सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

मुश्क़िल में सलमान ख़ान की ‘टाइगर ज़िंदा है’

इस साल की बहुप्रतिक्षित फिल्मों में से एक सलमान खान की ‘टाइगर ज़िंदा है’ को लेकर अब एक नई मुसीबत खड़ी बो गई है। 22 दिसंबर को रिलीज़ होने जा रही इस फिल्म का विरोध महाराष्ट्र नव निर्माण सेना कर रही है। उनका कहना है कि मराठी फिल्म ‘देवा’ को प्राइम टाइम न मिला, तो ‘टाइगर ज़िंदा है’ को रिलीज़ नहीं होने देंगे। 

टाइगर ज़िंदा है में सलमान खान
मुंबई। बीते कुछ समय से फिल्म के रिलीज़ होने से पहले ही विरोध प्रदर्शन जोर पकड़ने लगा है। अब ताज़ा विरोध सलमान खान की 22 दिसंबर को रिलीज़ होने जा रही फिल्म ‘टाइगर ज़िंदा है’ को लेकर होना शुरू हो गया है। 

दरअसल, महाराष्ट्र नव निर्माण सेना यानी एमएनएस ने सलमान की इस फिल्म को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि यदि मराठी फिल्म ‘देवा’ का प्राइम टाइम न मिला, तो फिर ‘टाइगर ज़िंदा है’ को रिलीज़ नहीं होने दिया जाएगा। 

एमएनएस का आरोप है कि बड़ी फिल्में हज़ारों थिएटरों में अपनी जगह बना लेती हैं, जिसकी वजह से मराठी फिल्मों को प्राइम टाइम नहीं मिल पाता है। 

बुधवार को एमएनएस फिल्म डिवीज़न के हेड अमेय खोपकर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि यशराज फिल्म्स को पत्र भेजा है कि यदि उन्होंने मराठी फिल्म ‘देवा’ को फिल्म स्क्रीन में जगह देते हैं, तो फिर उनका कोई भी विरोध नहीं होगा। यदि वो ऐसा नहीं करते हैं, तो फिल्म के निर्माता-निर्देशक को महाराष्ट्र में कहीं भी शूटिंग नहीं करने दिया जाएगा। 

ग़ौरतलब है कि मंगलवार को मीडिया में ख़बर आई थी कि एमएनएस अध्यक्ष राज ठाकरे ने भी यशराज फिल्म्स को एक पत्र भेज कर चेतावनी दी थी कि यदि मराठी फिल्म ‘देवा’ को प्राइम टाइम में नहीं दिखाया गया, तो वो सलमान खान की फिल्म ‘टाइगर ज़िंदा है’ को शुक्रवार क किसी भी थिएटर में चलने नहीं देंगे। 

सलमान खान की इस फिल्म का दर्शक बड़ी बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं। अली अब्बास जफर के निर्देशन में बनी यह फिल्म 2012 में आई सलमान-कटरीना कैफ की फिल्म ‘एक था टाइगर’ की सीक्वल है।

संबंधित ख़बरें