सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

फैन की रिलीज पर रोक से कोर्ट का इनकार

शाहरुख खान की फिल्म की रिलीज़ पर मंडराने वाला खतरा टल तो गया है, लेकिन स्क्रिप्ट राइटर से निर्माता निर्देशक बने महेश दोईजोड़े को दो सप्ताह के भीतर जवाब देने को कहा है। 'कहीं है प्यार मेरा' नाम की फिल्म के निर्माता निर्देशक महेश ने यशराज फिल्म्स, मनीष शर्मा और शाहरुख़ खान पर कॉपीराइट उलंघन का आरोप लगाया है और बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका भी दर्ज कराइ थी। सोमवार को हुई सुनवाई में कोर्ट ने फिल्म की रिलीज़ पर रोक लगने से मना कर दिया है।


मुंबई । बॉम्बे उच्च न्यायालय ने बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान की फिल्म 'फैन' की रिलीज़ पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है। निर्माता निर्देशक और लेखक महेश दोईजोड़े ने कॉपीराइट उल्लंघन का आरोप लगाते हुए फिल्म के खिलाफ न्यायालय में मामला दायर किया था।


न्यायालय ने फिल्म की रिलीज़ पर रोक लगाते हुए फिल्म निर्माता यशराज फिल्म्स और शाहरुख इस मामले में दो सप्ताह में जवाब देने को कहा है।

कहानी का चोरी आरोप

न्यायाधीश गौतम पटेल ने लेखक-निर्देशक महेश दोइजोड़े द्वारा दायर मुकदमे पर सुनवाई की, जिन्होंने दावा किया था कि उन्होंने साल 1994 में एक कहानी लिखी थी, जो शाहरुख की आगामी फिल्म 'फैन' से मिलती जुलती है। दोइजोड़े ने कहा कि उन्होंने साल 1997 में राइटर्स एसोसिएशन में 'अभिनेता' नाम से फिल्म को पंजीकृत भी कराया था।

दोइजोड़े का दावा है कि उन्होंने साल 1997 में इस कहानी को यश चोपड़ा को सुनाई थी, जो उन्हें पसंद भी आई थी, उस समय चोपड़ा 'दिल तो पागल हैं' के एक गाने की शूटिंग मुंबई के महबूब स्टूडियो में कर रहे थे ।

इसके अलावा दोईजोड़े का यह भी दवा है कि साल 1998 में इस कहानी को वो शाहरुख खान को भी सुना चुके हैं। बाद में यश चोपड़ा ने उनसे आदित्य चोपड़ा से इस मामले में बातचीत करने को कहा था, लेकिन आदित्य से बातचीत का कोई परिणाम नहीं आया।

उन्होंने कहा कि जब मैंने 'फैन' का ट्रेलर देखा, तो मुझे लगा कि यह मेरी लिखी स्क्रिप्ट पर ही बनी है। उन्होंने इस मामले में अदालत का दरवाजा खटखटाया और अपने मुकदमे पर सुनवाई लंबित रहने तक फिल्म की रिलीज़ पर रोक लगाने की मांग की। उन्होंने शाहरुख खान और यशराज फिल्म्स से 25 करोड़ रुपए का मुआवजा और फिल्म में अपना क्रेडिट भी मांगा था।

संबंधित ख़बरें।
आगे 'द जंगल बुक' ने की चार दिन में 48 करोड़ की कमाई