सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

‘मिस्टर इंडिया’ के सीक्वल की तैयारियां हो चुकी हैं शुरू

तक़रीबन तीस साल पहले रिलीज़ हुई फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ के सीक्वल की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें, तो कहानी भी मिल गई है। इस बार श्रीदेवी और अनिल कपूर के अलावा एक नए जोड़े को भी फिल्म में लाया जाएगा। 

मिस्टर इंडिया के सीक्वल की तैयारी शुरू
मुंबई। ‘मोगैम्बो’, ‘हवा-हवाई’, ‘अरूण भइया’, ‘कैलेंडर’ ‘टीना’ और ‘गायतोंडे’ के किरदार आज भी लोगों के ज़ेहन में ताज़ा हैं। तीस साल पहले रिलीज़ हुई फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ का जादू ऐसा है कि लोगों के सिर पर सवार ही है।

आज भी कभी भी टीवी पर यह फिल्म आती है, तो दर्शक ख़ुद को इससे अलग नहीं कर पाते हैं। सलीम-जावेद की जोड़ी की लिखी इस फिल्म को शेखर कपूर ने निर्देशित किया था। वहीं इसका निर्माण बोनी कपूर ने किया था। 

फिल्म में अहम भूमिकाओं ने उस समय के दिग्गज कलाकार थे। अमरीश पुरी, अनिल कपूर, श्रीदेवी सरीखे कलाकारों से सजी यह फिल्म साल 1987 की सबसे ज़्यादा कमाई वाली फिल्म बनी थी। 

ख़ैर, अब ख़बर आ रही है कि एक बार फिर से बोनी कपूर इस फिल्म के जादू को जगाने की जुगाड़ में लग गए हैं। एक अंग्रेज़ी दैनिक में छपी ख़बर के अनुसार बोनी कपूर को फिल्म की कहानी मिल गई है। अब वो कलाकारों के नामों पर विचार कर रहे हैं। 

अहम बात यह है कि ‘मिस्टर इंडिया’ के लीड कलाकार इस बार भी फिल्म का हिस्सा होंगे। साथ ही एक नए जोड़े को भी फिल्म में नई कहानी के साथ इंट्रोड्यूज़ किया जाएगा। 

इसके अलावा ख़बरें यह भी हैं कि निर्देशक शेखर कपूर ने इस फिल्म के सीक्वल के निर्देशन का जिम्मा लेने से मना कर दिया है, तो अब नए निर्देशक की तलाश शुरू हो चुकी है। नए निर्देशकों के विकल्प के रूप में राकेश ओमप्रकाश मेहरा और ‘मॉम’ के निर्देशक रवि उद्वर सबसे आगे चल रहे हैं।

फिलहाल बोनी के भाई अनिल कपूर अपनी फिल्म ‘मुबारकां’ में व्यस्त हैं और दूसरी तरफ बोनी की पत्नी अभिनेत्री श्रीदेवी फिल्म ‘मॉम’ के प्रमोशन में बिज़ी हैं। 

अब जब इस फिल्म की सुगबुहाट तेज़ हो गई है, तो उम्मीद करते हैं कि फिल्म की आधिकारिक अनाउंसमेंट भी जल्दी हो जाए। 

इन सब बातों के अलावा एक बात जो इस सीक्वल की ख़बर के बाद दिमाग़ में आई, वो है ‘मोगैम्बो’। क्या इस बार के ‘मिस्टर इंडिया’ में कोई विलेन ‘मोगैम्बो’ वाला जादू जगा पाएगा। 


‘मिस्टर इंडिया’ के रोचक तथ्य 

सलीम-जावेद की जोड़ी द्वारा लिखी गई यह फिल्म साल 1987 की सबसे ज़्यादा कमाई वाली फिल्म बनी थी, लेकिन दिलचस्प बात यह है कि इस फिल्म के लिए पहली पसंद अनिल कपूर नहीं थे। जी हां, फिल्म अमिताभ बच्चन को ध्यान में रखकर लिखी गई थी। 

फिल्म पूरी लिखने के बाद जब अमिताभ से इस फिल्म के बारे में संपर्क किया गया, तो उन्होंने इस फिल्म को करने से मना कर दिया। अपनी मनाही की वजह देते हुए कहा कि दर्शक फिल्म में मुझे देखने आते हैं, न कि तुम लोगों की लिखी स्क्रिप्ट सुनने। फिल्म में आधे से ज़्यादा तो हीरो गायब रहता है। 

फिर फिल्म पहुंची राजेश खन्ना के पास उन्होंने भी अमिताभ वाला ही जवाब दिया। राजेश खन्ना के बाद जब यह फिल्म अनिल कपूर के पास पहुंची, तो उन्होंने झट से साइन कर दिया। दरअसल, अनिल कपूर उस समय जो भी फिल्म आती, उसे साइन कर लिया करते थे। अब इस तरह से तो फिल्म का हीरो मिला। 

लेकिन ‘विलेन’ को लेकर भी एक कहानी है। दरअसल, फिल्म के निर्देशक शेखर कपूर चाहते थे कि ‘मोगैम्बो’ के लिए अनुपम खेर से बात की जाए, लेकिन वो हिम्मत नहीं कर पाए। फिर अमरीश पुरी के बारे में बोनी कपूर ने कहा। तब शेखर ने कहा कि क्या वो ये फिल्म करेंगे। इस पर बोनी ने कहा मैं बात करता हूं और फिर बातचीत सफल हुई, ‘मोगैम्बो खुश हुआ’। 

संबंधित ख़बरें
आगे कुमकुम भाग्य : अभि-प्रज्ञा की आखिर हुई शादी