सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

‘अक्सर 2’ के ‘बच्चन’ हैं मोहित मदान

साल 2015 में आई फिल्म ‘लव एक्सचेंज़’ से अपने सिने करियर की शुरुआत करने वाले मोहित मदान अब अनंत महादेवन के निर्देशन में बनी फिल्म ‘अक्सर 2’ में भी नज़र आने वाले हैं। इस फिल्म में वो ‘बच्चन’ नाम के किरदार में नज़र आएंगे। हाल ही हुई उनसे मुलाक़ात में उन्होंने अपने किरदार और अभी तक के अपने सफर के बारे में खुल कर बात की।

अक्सर 2 में मोहित बच्चन बने हैं
मुंबई। साल 2006 में आई इमरान हाशमी, उदिता गोस्वामी और डीनो मोरिया अभिनीत और अनंत महादेवन के निर्देशन में बनी फिल्म ‘अक्सर’ बॉक्स ऑफिस पर सफल रही थी। अब तकरीबन 11 साल बाद इस फिल्म का सीक्वल अनंत लेकर आ रहे हैं। 

इस बार फिल्म में टीवी के स्थापित कलाकार गौतम रोडे के साथ अदाकार ज़रीन खान और अभिनेता अभिनव शुक्ला और मोहित मदान नज़र आने वाले हैं। अक्टूबर में रिलीज़ होने वाली इस फिल्म के प्रमोशन का काम बड़े ज़ोर-शोर से चल रहा है। 

फिल्म के प्रमोशन में जुटे अभिनेता मोहित मदान से जब फिल्म में उनके किरदार के बारे में पूछा, तो उन्होंने कहा, ‘फिल्म में मैं ‘बच्चन’ नाम का किरदार निभा रहा हूं।’ अपने किरदार के नाम पर चुटकी लेते हुए कहते हैं कि कुछ किरदारों के नाम ही उनको वजनी बना देते हैं। 

अपने रोल के बारे में बात करते हुए मोहित कहते हैं कि मुझे निर्माता-निर्देशक ने एक दिन यूं ही बुलाया और मैं भी बिना तैयारी के उनसे मिलने चल पड़ा। फिर जब मुलाक़ात हुई, तो पता चला कि मुझे तो लुक टेस्ट देना है। फिर अगले दिन तीन लुक टेस्ट दिए और फिर मेरा चयन हो गया। 

अपने किरदार को लेकर कहते हैं कि इस किरदार को निभाने में बड़ी दिक्कत हुई, क्योंकि मैं इससे बिलकुल भी मेल नहीं खाता हूं। फिर भी साथी कलाकारों और निर्देशक अनंत महादेवन के साथ की वजह से सब हो बेहतर तरीक़े से हो गया। 

फिल्म ‘अक्सर 2’ के पोस्टर से लेकर प्रोमो और अब तक आए गाने में बोल्डनेस की भरमार है। ऐसे में जब मोहित से पूछा गया कि क्या इस तरह की फिल्म का हिस्से बनने से पहले आपको हिचक नहीं हुई, तो उन्होंने कहा, ‘बिलकुल भी नहीं। दरअसल, जिस तरह से अभी तक फिल्म बाहर आई है, उससे बिलकुल भी जुदा है। लोगों को लग रहा है कि यह इरोटिक फिल्म होगी, लेकिन यह प्योर सस्पेंस थ्रिलर फिल्म है।’

मल्टीस्टारर फिल्म का हिस्सा बनने का फैसला कितना चुनौतीपूर्ण रहा। इसके जवाब में वो कहते हैं, ‘मेरे लिए तो बिलकुल भी चुनौतीपूर्ण नहीं रहा। हालांकि, कई कलाकार मल्टीस्टारर फिल्म का हिस्सा होने से कतराते हैं, लेकिन इस फिल्म में सभी कलाकारों के किरदार अहम है। कोई बड़ा या छोटा नहीं। किसी कलाकार का किरदार अहम होता है, तो फिर स्क्रीन टाइमिंग कोई ख़ास असर नहीं डालती है।’

मोहित वैसे तो दिल्ली से हैं, लेकिन उनकी परवरिश न्यूज़ीलैंड में हुई है। हालांकि, उनका एक्सेंट खालिस हिंदूस्तानी है। ऐसे में जब उनसे इसका राज़ पूछा गया, तो वो बोले, ‘इसका श्रेय तो मेरी मां को जाता है। दरअसल, न्यूज़ीलैंड में रहते हुए भी मेरी मैं ने हम दोनों भाई बहनों के लिए नियम निकाला था कि घर में सिर्फ हिंदी में बात होगी।’ 

वो आगे कहते हैं कि इस वजह से जब मैं न्यूज़ीलैंड के दोस्तों के साथ रहता हूं, तो उनके एक्सेंट में बात करता हूं और बाकी इंडिया रहूं या मां से बात करूं हिंदी एक्सेंट अपने आप चालू हो जाता है। 

अपने एक्टिंग करियर के लिए पैरेंट को मनाना कितना आसान रहा। इसके जवाब में कहते हैं, ‘बिलकुल भी असान नहीं रहा। तकरीबन तीन साल तक मैंने उनको कन्विंस करने में बिता दिए। मैंने अपने मां-पिता से कहा कि देखिए आपकी कही हर बात मैंने मानी, अब बारी मेरी है, मेरी इच्छाओं को पूरा करने का एक मौक़ा दीजिए।’

मोहित बताते हैं कि मुश्किल से मैंने उनको राजी कर लिया। फिलहाल मैं अपने काम को पूरी शिद्दत से करने जुट गया हूं और अब परिवार का साथ भी मुझे मिलने लगा है। 

मोहित की पहली फिल्म बुरी तरह असफल रही और फिर दो साल के अंतराल के बाद फिल्म आ रही है। इस बीच उन्हें कितना संघर्ष करना पड़ा। इसके जवाब में कहते हैं कि मैंने खुद को सकारात्मक बनाए रखा। पूरा ध्यान सिर्फ और सिर्फ अपने मक़सद पर लगाए रखा। 

वो आगे कहते हैं कि फिलहाल तो काम मिलता जा रहा है। ज़रूरी है मिले हुए काम को बेहतरीन तरीके से किया जाए। ‘अक्सर 2’ के बाद वो ऋषिता भट्ट के साथ एक फिल्म करने जा रहे हैं, जिसकी शूटिंग भी जल्दी ही गोवा में शुरू होने वाली है।

संबंधित ख़बरें