सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

साल 2017 की बड़े बजट की ‘फ्लॉप’ फिल्में

साल 2017 बीत चुका है और साल 2018 का आगाज़ हो चुका है। बीते साल कई फिल्में आईं, कुछ हिट हुईं, तो कुछ टिकट खिड़की पर बेदम साबित हुईं। हालांकि, बॉलीवुड ट्रेड एनालिस्ट को साल 2017 से काफी उम्मीद थी, लेकिन उम्मीद पर पानी फिर गया। ख़ैर, इस रिपोर्ट में उन फिल्मों का जिक्र करने जा रहे हैं, जो बड़े बजट और बड़ी उम्मीदों के साथ टिकट खिड़की पर उतरी, लेकिन ‘पिट’ गईं। 

फिल्म ट्यूबलाइट में सलमान खान
मुंबई। साल 2017 को लेकर बॉलीवुड के ट्रेड एनालिस्ट काफी उत्साहित थे। उनका कहना था कि इस साल बड़े सितारों की बड़े बजट की फिल्में आ रही हैं, जिससे बॉक्स ऑफिस कलेक्शन भी शानदार होगा। हालांकि, उम्मीदें बस उम्मीदें ही रह गई। 

बड़े नामों से सजी बड़ी फिल्में टिकट खिड़की पर बेदम रहीं। वहीं छोटे बजट की फिल्मों ने अच्छा खासा कारोबार किया। वैसे, जाते साल के खाते में एक बड़े बजट की हिट फिल्म ‘टाइगर ज़िंदा है’ के नाम से दर्ज हो गई है। 

ख़ैर, आइए देखते हैं कि किन फिल्मों से थी उम्मीदें, जो धराशाई हो गईं। 

कंगना रनौत का ‘रंगून’

इस लिस्ट में सबसे पहला नाम आता है रंगून का। एक ऐसी फिल्म जिसका निर्देशन विशाल भारद्वाज कर रहे हों और उसमें कंगना रनौत के साथ शाहिद कपूर और सैफ अली खान सरीखे सितारे हो, तो फिर उम्मीद तो लाज़िमी है। 

लीक से हट कर फिल्में बनाने के लिए जाने वाले विशाल भारद्वाज ने ‘रंगून’ को द्वितीय विश्व युद्ध की पृष्टभूमि पर रचा, लेकिन वो जादू न चला पाए। दर्शकों के साथ समीक्षकों को भी इस फिल्म को लेकर काफी उत्सुकता थी, लेकिन फिल्म को दर्शकों के साथ समीक्षकों ने भी नकार दिया। इस फिल्म ने महज 20.68 करोड़ का कारोबार ही किया। 

रणबीर कपूर की ‘जग्गा जासूस’

रणवीर कपूर और कटरीना कैफ स्टारर फिल्म ‘जग्गा जासूस’ से लगाई गई उम्मीदें भी धराशाई हुईं। अनुराग बासु के निर्देशन में बनी इस म्यूजिकल फिल्म से रणबीर कपूर बतौर प्रोड्यूसर भी शुरुआत कर रहे थे। लेकिन फिल्म बनने में जितनी देरी हुई और फिर रिलीज़ डेट जितनी बार बदली गई, शायद ही किसी फिल्म के साथ ऐसा हुआ हो। 

ख़ैर, 14 जुलाई 2017 को रिलीज़ हुई इस फिल्म को दर्शकों का उतना प्यार नहीं मिला, जितने की उम्मीद थी। 120 करोड़ की लागत से बनी इस फिल्म ने सिर्फ 54.16 करोड़ का ही कारोबार किया। फिल्म की असफलता का ठीकरा रणबीर के पिता अभिनेता ऋषि कपूर ने अनुराग बासु के सिर पर फोड़ा। 

शाहरुख खान की ‘जब हैरी मेट सेजल’

बॉलीवुड के रोमांस किंग कहे जाने वाले शाहरुख खान एक बार फिर फिल्म ‘जब हैरी मेट सेजल’ से अपने रोमांस का जादू चलाने आए, लेकिन इस फिल्म को उम्मीद के मुताबिक सफलता हाथ नहीं लगी। फिल्म में शाहरुख के अपोज़िट अनुष्का शर्मा थीं और फिल्म को इम्तियाज अली ने निर्देशित किया था। 

तकरीबन 90 करोड़ की लागत से तैयार इस फिल्म ने 64.33 करोड़ की ही कमाई की। वैसे साल 2017 शाहरुख के लिए कुछ खास कमाल नहीं रहा। साल की शुरुआत में आई फिल्म ‘रईस’ के हाथ भी कोई ख़ास कामयाबी नहीं लगी। 

कृति सैनन और सुशांत का ‘राबता’

इस नई-नवेली जोड़ी की फिल्म को लेकर फिल्मी गलियारों में गॉसिप का बाज़ार गर्म था। ख़बरें थीं कि ये दोनों एक दूसरे के प्यार में गिरफ्तार हैं। अब इस ख़बर की सच्चाई में कितना दम है, ये तो पता नहीं चल पाया, लेकिन फिल्म बेदम निकली। 

लगभग 60 करोड़ के बजट में तैयार इस फिल्म ने टिकट खिड़की पर 25.67 करोड़ का ही कारोबार किया। 

सलमान खान की ‘ट्यूबलाइट’

सलमान खान की ईद रिलीज़ फिल्म लेकर काफी क्रेज़ रहता है, तो इस बार भी वो क्रेज़ देखने को मिला। इस साल ईद पर सलमान खान की फिल्म ‘ट्यूबलाइट’ रिलीज़ हुई, जिसे दर्शकों ने कुछ खास पसंद नहीं किया। 

कबीर खान के निर्देशन में बनी इस फिल्म में सोहेल खान भी अहम भूमिका में थे। तकरीबन 120 करोड़ में तैयार इस फिल्म ने लगभग-लगभग लागत निकालते-निकालते रह गई। फिल्म की इतनी ख़राब कमाई के कारण मेकर्स ने डिस्ट्रीब्यूटर्स के साथ नुकसान को साझा किया। 

इन फिल्मों के अलावा और भी कई फिल्में रहीं, जिन्होंने ट्रेड एनालिस्ट्स की उम्मीदों पर पानी फेरा। हालांकि, जाते हुए साल में सलमान खान की ‘टाइगर ज़िंदा है’ ने एक बार फिर टिकट खिड़की पर बहार ला दिया है।

संबंधित ख़बरें