सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

...तो न बन पातीं माधुरी दीक्षित ‘मोहिनी’

अपनी बेजोड़ खूबसूरती, जबरदस्त डांसिंग स्किल्स और दिलकश अदाओं के लिए जाने जानी वाली अदाकारा माधुरी दीक्षित नेने का आज जन्मदिन है। पारंपरिक मराठी परिवार में जन्मी माधुरी ने हिंदी सिनेजगत में अपना एक अलग मुकाम बनाया है। मात्र सत्रह साल की उम्र में बॉलीवुड डेब्यू करने वाली माधुरी के लिए सफलता इतनी आसान नहीं रही। काफी संघर्ष के बाद उनको ‘तेजाब’ की ‘मोहिनी’ बनने का प्रस्ताव मिला, लेकिन माधुरी इस फिल्म के लिए पहली पसंद नहीं थी। कौन थी फिर वो पहली पसंद, जिनके इंकार ने बॉलीवुड को ‘मोहिनी’ दी....पढ़िए। 

माधुरी दीक्षित गाना एक दो तीन

मुंबई। कोई ‘धक-धक गर्ल’ कहता है, तो किसी के लिए वो अभिनेत्री ‘मधुबाला’ है, किसी को उसकी डांसिंग स्किल भाती है, तो कोई उसकी कातिल अदाओं का कायल है। जी हां, हम बात कर रहे हैं अभिनेत्री माधुरी दीक्षित की। 

माधुरी दीक्षित 51 साल को हो गई हैं। आज वो किसी पहचान की मोहताज़ नहीं हैं, लेकिन एक ऐसा भी दौर था, जब उनकी फिल्में लगातार फ्लॉप हो रही थीं और उनको फिल्मों में मुख्य भूमिका के बजाय छोटे-मोटे किरदार से संतोष करना पड़ता था। 

फिर आया साल 1988 का साल। इस साल उनकी एक फिल्म रिलीज़ हुई थी, नाम था ‘तेजाब’। इस फिल्म के बाद माधुरी छुट्टियां बिताने के लिए यूएस चली गईं, लेकिन जब वो छुट्टियां बिता कर वापस लौटी, तो स्टार बन चुकी थीं। 

एयरपोर्ट पर माधुरी को देखकर लोग ‘मोहिनी-मोहिनी’ चिल्ला रहे थे। लोगों के इस रिस्पांस को देखकर माधुरी को लगा कि वो अब बतौर अभिनेत्री प्रतिस्थापित हो चुकी हैं। 

माधुरी को जिस फिल्म ने बतौर अभिनेत्री स्थापित किया, उस फिल्म के लिए वो पहली पसंद नहीं थीं। एन चंद्रा के निर्देशन में बनी इस फिल्म के लिए पहली पसंद मीनाक्षी शेषाद्री थीं। जब चंद्रा ने मीनाक्षी को इस फिल्म का प्रस्ताव दिया, तो उन्होंने फिल्म करने से इंकार कर दिया। 

दरअसल, मीनाक्षी को इस फिल्म के लिए मिलने वाला मेहनताना कम लगा और डेट्स भी न होने की बात कही। फिर क्या था, एन चंद्रा ने माधुरी को अपनी फिल्म ‘तेजाब’ की ‘मोहिनी’ बनाने का फैसला ले लिया। फिल्म तेजाब माधुरी के करियर के लिए टर्निंग पॉइंट रही। 

ऐसे बनीं ‘धक-धक गर्ल’ 

साल 1992 में आई फिल्म ‘बेटा’ का गाना ‘धक-धक करने लगा’ ने माधुरी दीक्षित को एक और उपनाम दिया। मज़ेदार बात यह है कि इस फिल्म के लिए भी माधुरी पहली पसंद नहीं थी। इंद्र कुमार इस फिल्म के लिए उन दिनों का नामचीन अदाकार श्रीदेवी के पास पहुंचे थे। 

उस समय श्रीदेवी और अनिल कपूर की जोड़ी सिल्वर स्क्रीन की हिट जोड़ियों में गिनी जाती थी। लिहाजा, इंद्र कुमार भी अपनी फिल्म में इस जोड़ी को कास्ट करना चाहते थे। अब फिल्म में ‘राजू’ के किरदार के लिए अनिल कपूर को साइन कर चुके थे और ‘सरस्वती’ के किरदार के लिए वो श्रीदेवी से मिलने पहुंचे। 

श्रीदेवी को फिल्म और किरदार दोनों पसंद आए थे, लेकिन वो बार-बार एक ही अभिनेता के साथ स्क्रीन शेयर नहीं करना चाहती थीं। हालांकि, अनिल और श्रीदेवी काफी करीबी थे, फिर भी बस एक इस वजह से उन्होंने फिल्म को ना कह दिया। 

अब एन चंद्रा, माधुरी के पास पहुंचे और उनको ‘सरस्वती’ का किरदार ऑफर किया, जिसे माधुरी ने तुरंत हामी दे दी। फिल्म सुपर-डुपर हिट रही और साथ ही माधुरी को एक और खिताब मिला, ‘धक धक गर्ल’। 

कह सकते हैं कि कुछ ठुकराए हुए किरदारों ने उनको सफलता दिलाई, लेकिन माधुरी ने भी ऐसी कई फिल्में और दमदार किरदार ठुकराए, जिनको अन्य अदाकाराओं ने निभाया और पहचान बना लिया।

ये अगली रिपोर्ट में....

संबंधित ख़बरें